Prabhavshali Leader Bane (Hindi Edition of -Become an Effective Leader)

Prabhavshali Leader Bane (Hindi Edition of -Become an Effective Leader)

Author : Dale Carnegie

In stock
Rs. 195
Classification Self Help
Pub Date 2018
Imprint Manjul
Page Extent 202 pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-93-87383-92-0
In stock
Rs. 195
(inclusive all taxes)
OR
about book

किसी भी संगठन की सबसे मूल्यवान संपत्ति उसके कर्मचारी होते हैं
इस पुस्तक ऐन आप सीखेंगे :
लीडरशिप का मूल तत्व क्या है
मैनेजर या लीडर अपनी भूमिकाओं में बदलाव कैसे कर सकते हैं
कर्मचारियों को जवाबदेह बनाते हुए उन्हें प्रभावशाली ढंग से प्रेरित कैसे किया जा सकता है
लीडर सबसे उपयुक्त व्यक्तियों को कैसे नियुक्त कर सकते हैं
सरल प्रबंधन और दोगुनी उपलब्धियों को कैसे हासिल किया जा सकता है

हमारी सफलता मुख्यतः इन बातों पर निर्भर करती है - चुनौतियों का सामना करने की हमारी क्षमता, परेशानी उतपन्न करने वाले लोगों से निपटना, अपने सहकर्मियों का धयान रखना एवं उनका समर्पण बनाए रखना तथा विवाद सुलझाने की योग्यता होना I यह पुस्तक लीडरशिप के इन सभी पहलुओं की विवेचना करती है और हमारे पेशे या व्यवसाय में विकास करने में मददगार रणनीतियों की चर्चा भी करती है I

About author

डेल हरबिसन कार्नेगी एक अमेरिकी लेखक और व्याख्याता थे. वे सेल्फ हेल्प मूवमेंट के प्रवर्तक माने जाते हैं और सेल्स, कॉर्पोरेट प्रशिक्षण, कुशल वक्तव्य और पारस्परिक कौशल में प्रसिद्ध पाठ्यक्रमों के डेवलपर भी। मिसौरी में एक खेत पर गरीबी में पैदा हुए, वह 'हाउ टू विन फ्रेंड्स एंड इंफ्लुएंंस पीपल' (1936) के लेखक थे, जो हमेशा से ही बेस्टसेलर रही है और आज भी इसकी लोकप्रियता में कमी नहीं आई है। उन्होंने 'हाउ टू स्टॉप वरीइंग एंड स्टार्ट लिविंग' (1948), 'लिंकन द अननोन' (1932), और कई अन्य पुस्तकें भी लिखीं। उनकी पुस्तकों में मूल विचारों में से एक यह है कि दूसरों के प्रति हमारे व्यवहार को बदलकर अन्य लोगों के व्यवहार को बदलना संभव है।