Ready, Study, Go!

Ready, Study, Go!

Author : Khurshed Batliwala, Dinesh Ghodke

In stock
Rs. 299
Classification Self-Help/ Education
Pub Date November 2019
Imprint Manjul
Page Extent 240
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-93-89143-94-2
In stock
Rs. 299
(inclusive all taxes)
OR
about book

सीखना एक कला है और सीखने का अर्थ यह जानना है कि क्या है और क्या नहीं है। जो है उसे जानने का नाम विज्ञान है, और जो नहीं है उसे रचने का नाम कला है।
-गुरुदेव श्री श्री रविशंकर

विद्यार्थियों के लिए अध्ययन के प्रभावशाली तरीके

गणित की परीक्षा से पहले की रात को आप बहुत घबरा रहे हैं । टी वी पर क्रिकेट मैच आ रहा है एयर इससे विचलित होकर आप रसायन- शास्त्र की पढ़ाई करने में स्वयं को लाचार महसूस कर रहे हैं। जब आपने कुछ ही समय पहले अपनी गर्लफ्रेंड के साथ झगड़ा किया हो तो फ्रेंच भाषा सीखने पर ध्यान लगाना बिलकुल असंभव-सा महसूस होता है।

क्या इन सारी परिस्तिथियों से उबरने के कई कारगर तरीके हैं?
क्या पढ़ाई वास्तव में मज़ेदार हो सकती है?

आर्ट ऑफ़ लिविंग के शिक्षक के शिक्षक और IIT के ग्रैजुएट खुरशेद बाटलीवाला (बावा) और दिनेश घोड़के आपको बता रहे है कि पढ़ाई को किस तरह से केवल परीक्षा उत्तीर्ण करने का माध्यम न मानते हुए मज़ेदार, सार्थक और रुचिकर अनुभव में बदला जा सकता है।
वे इस पुस्तक में पढ़ी हुई सामग्री को याद रखने और त्वरित अध्ययन की कई तकनीकें सुझा रहे हैं। साथ ही शरीर के साधारण व्यायाम, योग और आहार लेने के ऐसे उपाय बता रहे हैं जिन्हें कोई भी अपना सकता है।

यह पुस्तक इसी तरह के दिलचस्प सुझावों से भरपूर है जो आपको ऐसी यात्रा के लिए निर्देशित करेगी, जिससे आपकी पढ़ने की आदतें और शायद आपका पूरा जीवन ही परिवर्तित हो जाए।

About author

बावा और दिनेश ने कॉर्पोरेट से बस्ती तक, जेल में बंद आतंकियों से लेकर देश के उत्कृष्ट शिक्षा संस्थानों के युवाओं तक, यानी समाज के हर वर्ग के लोगों को पढ़ाया है।
उन्होंने आर्ट ऑफ़ लिविंग के कई नवाचारी सामाजिक कार्यक्रम चलाए हैं। इनमें से डोनेट अ बुक, एजुकेट अ चाइल्ड, द ग्रेट ग्रीन प्रोजेक्ट (जिसमें क़रीब 1 00 000 पौधे रोपे गए), द मार्च अगेंस्ट करप्शन और द मुंबई हेल्पलाइन टु प्रिवेंट सुसाइड के नाम उल्लेखनीय हैं।
उन्होंने श्री श्री रविशंकर के मार्गदर्शन में युवाओं के लिए आर्ट ऑफ़ लिविंग का कार्यक्रम YES+ (यूथ एम्पावरमेंट ऐंड स्किल्स) बनाया, जिसे दुनिया भर में 100 से अधिक देशों में पेश किया गया।
बावा और दिनेश का एक यूट्यूब चैनल भी है, जिस पर आध्यात्म, गणित, स्वास्थ्य और अन्य विषयों पर रुचिकर वीडियो डाले हुए हैं। उनके कुछ वीडियो तो इतने वायरल हुए हैं, जिनके देखने वालों की संख्या लाखों तक है। वे आर्ट ऑफ़ लिविंग के बेंगलुरु स्थित आश्रम में प्रकृति से घिरे सुंदर घर में अपने दोस्तों के साथ रहते हैं, जो उनका परिवार है।