Sangharsh Se Mili Safalta : Sania Mirza

Sangharsh Se Mili Safalta : Sania Mirza

Author : Sania Mirza, Imran Mirza, Shivani Gupta

In stock

Regular Price: Rs. 350

Special Price Rs. 263

Classification Autobiography
Pub Date March 2017
Imprint Manjul Hindi
Page Extent 258
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-791-9
In stock

Regular Price: Rs. 350

Special Price Rs. 263

(inclusive all taxes)
OR
about book

वर्तमान में विमेंस डबल्स में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा ने जब सोलह वर्ष की उम्र में विंबलडन चैंपियनशिप में विमेंस डबल्स ख़िताब जीता, तो सनसनी फ़ैल गई.
2003 में शुरू हुए अपने सिंगल्स करियर से २०१२ में रिटायरमेंट तक उन्हें विमेंस टेनिस एसोसिएशन ने सिंगल्स और डबल्स दोनों में भारत की शीर्षस्थ खिलाड़ी का दर्जा दिया. छह बार ग्रैंड स्लैम चैंपियन रह चुकी सानिया ने अगस्त 2015 और फ़रवरी 2016 के बीच अपनी डबल्स पार्टनर मार्टिना हिंगिस के साथ लगातार 41 बार जीतने का असाधारण कीर्तिमान बनाया.

यह पुस्तक एक प्रतिष्ठित भारतीय खिलाड़ी की कहानी है, जिसने शिखर पर पहुँचने के लिए बेहद कठिन परिस्थितियों पर विजय पाई. सानिया साफ़गोई से बताती हैं कि सफलता की राह में उन्हें कैसी-कैसी मुश्किलों का सामना करना पड़ा, कई चोट और ऑपरेशन के कारण कितनी शारीरिक और भावनात्मक क्षति हुई, कौन-से मित्र और साझेदार उनके परिवार के साथ उनका सहारा बने, उन्होंने लगातार कितने सार्वजनिक दबाव सहे और राजनीति के दाँव-पेंच व निराशाओं को भी झेला, जो सफलता के साथ हमेशा जुड़े होते हैं.

सानिया ने हमेशा नियमों को तोड़ते हुए अपने दिल की बात कही है और सीमाओं के पार जाकर मेहनत की, उन्होंने भारत के लिए आक्रमक अंदाज़ में खेला है और इस बात की परवाह नहीं करी कि इसकी वज़ह से उनकी रैंकिंग पर बुरा असर पद सकता है - वे प्रेरणा का स्त्रोत हैं और टेनिस कोर्ट से विदा होने के बाद भी हमेशा प्रेरणादायी बनी रहेंगी.

About author

सानिया मिर्जा: एक भारतीय पेशेवर टेनिस खिलाड़ी है जो महिला युगल रैंकिंग में नंबर 1 स्थान पर हैं। 2003 से 2013 में सिंगल्स से उसकी सेवानिवृत्ति तक, वह महिला टेनिस संघ द्वारा भारत की नंबर 1 खिलाड़ी के रूप में, दोनों एकल और युगल में स्थान अर्जित कर चुकी हैं। अपने कैरियर के दौरान, मिर्जा सबसे सफल महिला टेनिस खिलाड़ी और हाई प्रोफाइल एथलीटों में से एक के रूप में खुद को स्थापित कर चुकी हैं ।

इमरान मिर्ज़ा: मुम्बई यूनिवर्सिटी से स्नातक इमरान मिर्ज़ा पेशे से बिल्डर हैं, जिन्होंने अपने करियर के शुआती हिस्से में खेल पत्रकारिता में भी हाथ आज़माए थे. सानिया के पिता, कोच, मार्गदर्शक और सलाहकार के रूप में उन्होंने 23 वर्षों तक सानिया के टेनिस करियर को आकर दिया.

शिवानी गुप्ता: शिवानी एक खेल पत्रकार हैं, जिन्होंने प्रिंट और टेलीविज़न मीडिया में एक दशक का अनुभव प्राप्त है. एक प्रशंसक, लेखक और टी.वी. प्रस्तुतकर्ता के रूप में उन्होंने विंबलडन से लेकर विश्व कप क्रिकेट तक की कुछ सबसे बड़ी प्रतियोगिताओं की रिपोर्टिंग के सिलसिले में संसार भर की यात्रा की है.