Anant Chetna ki Khoj (Hindi Edtion of The Untethered Soul)

Anant Chetna ki Khoj (Hindi Edtion of The Untethered Soul)

Author : Michael A. SInger

In stock

Regular Price: Rs. 195

Special Price Rs. 146

Classification Sprituality / Self-help
Pub Date 15 October 2015
Imprint Manjul Hindi
Page Extent 186
Binding PB
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-619-6
In stock

Regular Price: Rs. 195

Special Price Rs. 146

(inclusive all taxes)
OR
about book

अंनंत चेतना की खोज में -
अपनी सीमाओं से आज़ाद होकर अपनी हदों से ऊपर उठने पर कैसा महसूस होगा? इस तरह की भीतर शांति और आज़ादी पाने के लिए आप हर रोज़ क्या कर सकते हैं? यह पुस्तक इन प्रश्नों का सरल और सहज उत्तर देती है I अंदरूनी शांति पाने का चाहे आपका यह पहला प्रयास हो या आपने इस अंतर्मुखी यात्रा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया हो, यह पुस्तक स्वयं के तथा आस-पास के संसार के साथ आपके संबंध को बदल देगी I

यह पुस्तक शुरुआत में, विचारों व भावनाओँ के साथ आपके संबंध से परिचय करवाती है और आपको भीतरी ऊर्जा के स्रोत तथा उतार - चढ़ाव को जानने में मदद करती है I यह बताती है कि आप चेतना को बाँधने वाले विचारों, भावों और नकारात्मक ऊर्जा से खुद को आज़ाद करने के लिए क्या कर सकते हैं I
अंत में, यह स्पष्ट रूप से आंतरिक स्वतंत्रता के साथ जीवन जीने के द्वार खोलती है

About author

माइकल ए. सिंगर अत्यंत सफल पुस्तक द अनटेथर्ड सोल (अंनंत चेतना की खोज में) के लेखक हैं, जिसे तुर्की, ब्राज़ील (पुर्तगाली में), स्विट्ज़रलैंड (जर्मन में), स्पेन, जापान, चीन, नीदरलैंड्स, डेनमार्क, फ़िनलैंड, पोलैंड और इटली में भी प्रकाशित किया गया है I
सिंगर ने 1971 में फ्लोरिडा विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में मास्टर डिग्री प्राप्त की I अपनी डॉक्टोरेट के दौरान उन्हें गहन चेतना महसूस हुई और वह योग व ध्यान पर केंद्रित होने के उद्देश्य से एकांत में चले गए I 1975 में उन्होंने 'टेंपल ऑफ द यूनिवर्स' की स्थापना की, जो अब योग व धयान का पुराण केंद्र बन चूका है, जहाँ किसी भी धर्म और मत के लोग आकर भीतर शांति अनुभव कर सकते हैं I बीते सालों में, सिंगर ने व्यापार, कला, शिक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण सुरक्षा के क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान दिया है I उन्होंने इससे पहले पूर्वी और पश्चिमी दर्शन के एकीकरण पर दो किताबें लिखी हैं : द सर्च फॉर ट्रुथ तथा थ्री एसेज ऑन यूनिवर्सल लॉ : कर्म, विल एंड लव I