Char Param Rahasya (Hindi Edition of The Four Sacred Secrets)

Char Param Rahasya (Hindi Edition of The Four Sacred Secrets)

Author : Preetha ji and Krishna ji

In stock
Rs. 299
Classification Mind, Body & Spirit
Pub Date December 2019
Imprint Manjul
Page Extent 178
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789389143867
In stock
Rs. 299
(inclusive all taxes)
OR
about book

चार परम रहस्य


प्रीताजी और कृष्णाजी


प्रीताजी और कृष्णाजी परिवर्तनकारी लीडर हैं, जिन्होंने स्वयं को दुनिया भर के लोगों के लिए समर्पित कर दिया है ताकि उन्हें उनकी चिंता और आतंरिक संघर्ष से मुक्त कर, एक 'सुंदर स्थिति' में रहने के लिए प्रेरित किया जा सके। भारत में ध्यान हेतु बने एक भव्य स्थान 'एकम' तथा 'ओ एंड ओ' अकादमी कोर्स के माध्यम से प्रीताजी और कृष्णाजी लाखों लोगों के जीवन को परिवर्तित करने के बाद अपनी प्रमुख शिखाओं को चार मूल हिस्सों में विभाजित कर रहे हैं, जो चमत्कारिक रूप से हमारा जीवन को आनंद, प्रेम, संपन्नता व् उद्देश्य के लिए उनमुक्त कर देंगे।


एक आध्यात्मिक ध्येय के साथ जीवन जीना: क्या आपको लगता है कि अपने लक्ष्यों को प्राप्त करना ही जीवन को अर्थ देता है ? जब आप अपने सपनों को साकार करते हैं तो उस समय आपकी मानसिकता स्थिति, आपको उद्देश्य से भरपूर जीवन के लिए जागृत करती है।


अपने आंतरिक सत्य कि खोज करें : क्या आप अत्यधिक तनाव के कारण चिड़चिड़ाहट और असंतोष से भरे रहते हैं? जब आप अपने आंतरिक अस्तित्व पर शांतिपूर्वक ध्यान लगाते हैं तो वह शांति आपको अप्रसन्नता और आत्म-जुनून से दूर जाने का मार्गदर्शन देती है।


'यह पुस्तक प्राचीन ज्ञान के माध्यम से सही मायनों में जिए जाने वाले जीवन के लिए आधुनिक सत्य को प्रस्तुत करती है। इसमें यह बताया गया है कि उन चीज़ों से कैसे मुक्त हों जो हमें सतत पतन कि ओर ले जाती हैं ताकि हम दूसरे से ओर स्वयं से सच्चे मायनों में नाता जोड़ सकें।' - आरियाना हफ़िंग्टन, थ्राइव ग्लोबल की संस्थापक व सीईओ

About author

प्रीताजी: एक परिवर्तनकारी लीडर व चैतन्य के परिवर्तन के लिए बने दर्शन-शास्त्र व ध्यान साधना के स्कूल, 'ओ ऐंड ओ' अकादमी की श-संस्थापक हैं। संसार भर के प्रमुख शहरों में लोग उनके कोर्स में भाग लेते हैं और वे उन्हें चैतन्य के विज्ञान और अलौकिक आयामों की और मार्गदर्शित करती हैं। उनकी टेड एक्स टॉक 'हाउ टू एंड स्ट्रेस, अनहैपीनेस ऐंड ऐंग्ज़ायटी टू लिव इन अ ब्यूटीफुल स्टेट' ने बीस लाख से भी अधिक लोगों तक पहुँच बनाई है।

कृष्णाजी: एक परिवर्तनकारी लीडर व 'ओ ऐंड ओ' अकादमी के सह-संस्थापक हैं। वे अनेक वैश्विक लीडर्स के आध्यात्मिक मार्गदर्शक रहे हैं, जिन्होंने अपनी पत्नी प्रीताजी तथा पुत्री लोका के साथ मिल कर दो कल्याणकारी संस्थाओं की सह-स्थापना की है: युवा लीडर्स के लिए बना संगठन वर्ल्ड यूथ चेंज मेकर्स और वन ह्यूमैनिटी केयर, एक ऐसा संगठन जो भारत में अकादमी के आसपास रहने वाले ग्रामीणों के जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में कार्यरत है।