GURU NA KISI KE, SHISHYA SABHI KE

GURU NA KISI KE, SHISHYA SABHI KE

Author : Anita Raina Thapan

In stock

Regular Price: Rs. 325

Special Price Rs. 244

Classification Biography
Pub Date 30 July 2015
Imprint Manjul Hindi
Page Extent 338 + 12 colored pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-608-0
In stock

Regular Price: Rs. 325

Special Price Rs. 244

(inclusive all taxes)
OR
about book

जे. पी. वासवानी की जीवनी पढ़ने का अर्थ हैं, प्रेम की असीम रूपांतरणकारी शक्ति को समझना I एक प्रगतिशील सिंधी परिवार में एक विलक्षण किशोर का असाधारण पालन-पोषण और उसकी जिज्ञासा, जो उसे ग़ैरमामूली व्यक्तित्वों से भेंट करवाती हैं व् उनके अदभुत वार्तालापों के बीच ले जाती हैं, निश्चित रूप से इस पुस्तक को पठनीय बनाते हैं I
एक उदीयमान भौतिकविद को अपनी पुकार का उत्तर किसी प्रयोगशाला या शोध के क्षेत्र में नहीं, बल्कि अपने गुरु व् चाचा, साधु वासवानी के श्री चरणों में प्राप्त होता है, जो एक महान समाज सुधारक, स्वतंत्रता सेनानी, लेखक व् आध्यात्मिक नेतृत्वकर्ता थे I
जे. पी. वासवानी ने अपने गुरुदेव के माध्यम से समझा कि प्रभु को मंदिरों के बंद द्वारों के भीतर नहीं पाया जा सकता, वे तो सभी पीड़ितों के दुखों व् आँसुओं में बस्ते हैं I उन्होंने अपने उल्लेखनीय करियर, वित्तीय सुरक्षा तथा ग्रहस्त जीवन का त्याग करते हुए, अपने लिए दूसरों कि सेवा करने का मार्ग चुना I वे जानते थे कि इस तरह उनका जीवन तथा मृत्यु दोनों ही समृद्ध हो जायेंगे I

97 वर्षीय जे. पी. वासवानी ने अपनी आलोकिक आभा, आँखों में चमक, अनंत ऊर्जा तथा तीक्ष्ण बुद्धि से यह प्रमाणित आकर दिया है कि युवावस्था को आयु से नहीं मापा जा सकता, यह विषय तो आपकी भावनाओं से संबंध रखता है I

About author

अनीता रैना थापन का कार्य, प्रज्ञावान मनुष्यों के जीवन तथा शिक्षाओं पर केंद्रित है, जिन्होंने दर्शाया है कि आध्यात्मिक आदर्शों को जिया जा सकता है, जिसके परिणामस्वरूप अधिक मानवीय, शांतिपूर्ण तथा निष्पक्ष समुदाय सामने आ सकता है, जिसके परिणामस्वरूप अधिक मानवीय, शांतिपूर्ण तथा निष्पक्ष समुदाय सामने आ सकते हैं I उनकी लिखी पुस्तकों में शामिल हैं : द पेंगुइन स्वामी चिन्मयानंद रीडर (स्वामी चिन्मयानंद का चयनित लेखन); फाइंडिंग पीस ऑफ़ माइंड ( जे. पी. वासवानी का चयनित लेखन); द ट्रुथ इज़ वन (साधु वासवानी का चयनित लेखन) I हाल ही में, उन्होंने बच्चों के लिए भी पुस्तकें लिखना शुरू किया हैं ताकि नई पीढ़ी के साथ भारतीय संस्कृति व् आध्यात्मिकता के आनंद तथा विस्मय को बाँट सकें I वे नई दिल्ली में रहते हैं और लोगों को योग की शिक्षा देते हैं I