Apni Yogyata Ke Anroop Kamaayen! (Hindi edn of Earn What You’re Really Worth)

Apni Yogyata Ke Anroop Kamaayen! (Hindi edn of Earn What You’re Really Worth)

Author : Brian Tracy

In stock

Regular Price: Rs. 195

Special Price Rs. 146

Classification Self-help
Pub Date February 2016
Imprint Manjul Hindi
Page Extent 244 pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-710-0
In stock

Regular Price: Rs. 195

Special Price Rs. 146

(inclusive all taxes)
OR
about book

क्या आप अपनी योग्यता के अनुरूप कमा रहे हैं
किसी भी क्षेत्र में अपनी आय अधिकतम करें

ब्रायन ट्रेसी

कमाने की योग्यता आपकी बेहद महत्त्वपूर्ण संपत्ति है I यह कोई ऐसा काम करने की योग्यता है, जिसके बदले में दूसरे लोग आपको पैसे देने को तैयार हों I यह संपत्ति मूल्यवान हों सकती है और हर वर्ष बढ़ सकती है, या फिर रुक सकती है या घाट भी सकती है I

आपकी सबसे बड़ी आर्थिक ज़िम्मेदारी अपने समय और कामकाज को इस तरह व्यवस्थित करना है, जिससे आप अपने जीवनकाल में ज़्यादा से ज़्यादा धन कमाएँ I यह पुस्तक आपको बताएगी कि आप ऐसा कैसे कर सकते हैं I

यह पुस्तक आपके अनिश्चित भविष्य में करियर की उन्नति के लिए एक महाग्रंथ साबित होगी I ये जाँची-परखी, आज़माई हुई रणनीतियाँ आपकी बरसों की कड़ी मेहनत और लाखों रुपयों की लागत बचा लेंगी I आप अपने जीवन को व्यवस्थित करना सीखेंगे, ताकि आप अपने संपूर्ण करियर में अधिकतम कमाई कर सकें I

यह पुस्तक हर उस व्यक्ति के लिए है जो किसी प्रतिस्पर्धी उद्योग में काम करता है, जिसमें स्टाफ़ के सदस्य या एक्ज़ीक्यूटिव शामिल हैं, जो ज़्यादा पैसे कमाने चाहते हैं I इनमें नौकरी बदल रहे लोग, ऑफिस के संसार में कदम रख रहे विद्यार्थी और ऐसा हर बेरोज़गार व्यक्ति भी शामिल है, जो नौकरी के संसार में दोबारा लौटना चाहता है I

About author

ब्रायन ट्रेसी का जन्म पूर्वी कैनेडा में 1944 में हुआ और वे कैलिफोर्निया में बड़े हुए I हाई स्कूल की पढाई छोड़ने के बाद उन्होंने विभिन्न प्रकार के काम करते हुए विश्व- भ्रमण किया और अन्ततः 6 महाद्वीपों में 80 देशों की यात्रा की I बिज़नेस, सेल्स, प्रबंधन, मार्केटिंग और अर्थशास्त्र में उनके गहन निजी अध्ययन की बदौलत वे 265 मिलियन डॉलर वाली कंपनी के प्रमुख बने, जिसके बाद उन्होंने अपना ध्यान परामर्श, प्रशिक्षण और व्यक्तिगत विकास की और मोड़ा I वे तीन कंपनियों के अध्यक्ष हैं, जो पूरे संसार में कार्यरत हैं I