Ek Tute Hue Khwab ke Tukde (Hindi)

Ek Tute Hue Khwab ke Tukde (Hindi)

Author : Prem

In stock
Rs. 150
Classification Fiction
Pub Date December 2015
Imprint Sarvatra
Page Extent 162
Binding Papaerback
Language Hindi
ISBN 978-81-9318-235-2
In stock
Rs. 150
(inclusive all taxes)
OR
about book

सजनी : एक टूटे हुए ख्वाब के टुकड़े , प्रेम जी की लघु कथाओं का संकलन है

सजनी एक इंसान की कहानी है जो अपने सपनों को पूरा करने के लिए लगातार कोशिशें करता है
वो दिलोजान से अपनी ज़िन्दगी के लिए जद्दोजहद करता है, पर उसे हासिल नहीं कर पाता
वो अपनी किस्मत को कोसता है
वो खुद पर हँसता है, पर अपने सपनों को छोड़कर आगे नहीं बढ़ पाता
वो भटकता रहता है क्योंकि यही उसकी फितरत है
ऐसा इंसान जो रास्तों की ख़ाक को ही अपना मुकद्दर मान कर चलता है... वो ही तो 'आवारा' कहलाता है

About author

Prem