Surbhi Suman

Surbhi Suman

Author : Ashok Sawhney

In stock
Rs. 595
Classification Poetry
Pub Date 15 July 2016
Imprint Sarvatra
Page Extent 418+12 Colored Pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-93-81506-86-8
In stock
Rs. 595
(inclusive all taxes)
OR
about book

सुरभि सुमन
खुशबू-ए-चमन
कुछ इस तरह से ज़िन्दगी को मैंने आसां कर लिया
किसी से माफ़ी मांग ली, किसी को माफ़ कर दिया I
अशोक साहनी ने अपनी निष्ठा और परिश्रम के आधार पर सुरभि सुमन शीर्षक से एक संकलन तैयार किया है जिसमें उन्होंने उर्दू भाषा के लगभग सभी उत्कृष्ट शायरों की शायरी का देवनागरी लिपी में प्रकाशन किया है I उन्होंने उर्दू के कठिनशब्दों के हिंदी मायने भी दिए हैं I श्री साहनी के इस साहित्यिक अनुष्ठान से जहाँ एक ओर हिंदी- भाषियों को उर्दू शायरी पढ़ने का अवसर उपलब्ध हुआ है, वहीं दूसरी ओर उनका यह प्रयास हमारी गंगा-जमुना संस्कृति को सुदृढ़ बनाने में योगदान देगा I

About author

अशोक साहनी देश में कलाई घडी डायल उद्योग के स्तंभ हैं I इसके अलावा उनके विशिष्ट गुणों में उर्दू शेरो-शायरी, सही मायनों में जोखिम लेने वाली उद्यमशीलता और भाषा विशेषज्ञता शामिल हैं I श्री साहनी सात भाषाओँ में दक्ष हैं और पूरी तरह प्रबुद्ध कवि हैं I वे कई सामाजिक संगठनों में प्रमुख ज़िम्मेदारियों का निर्वहन भी कर रहे हैं I