Vikas ke 15 Amulya Niyam (Hindi Ed. Of The 15 Invaluable Laws of Growth)

Vikas ke 15 Amulya Niyam (Hindi Ed. Of The 15 Invaluable Laws of Growth)

Author : John C Maxwell

In stock
Rs. 299
Classification Business
Pub Date 20 May 2019
Imprint Manjul
Page Extent 262
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-93-88241-84-7
In stock
Rs. 299
(inclusive all taxes)
OR
about book

जॉन मैक्सवेल पचास साल से भी ज़्यादा समय से व्यक्तिगत विकास के बारे में जोशीले अंदाज़ में बताते हैं। अब पहली बार वे अपने समूचे ज्ञान को साझा कर रहे हैं कि आप खुद का विकास कैसे कर सकते हैं, ताकि आपके पास वैसा इंसान बनने का सर्वश्रेष्ठ अवसर रहे, जैसा होने के लिए आपको बनाया गया था। अपनी चिर-परिचित संवाद शैली में जॉन सिखाते हैं :
दर्पण का नियम: अपना मूल्य बढ़ाने के लिए आपको ख़ुद में मूल्य देखना होगा।
जागरूकता का नियम: अपना विकास करने के लिए आपको ख़ुद को जानना होगा।
मिसाल का नियम: बेहतर बनना मुश्किल है, जब अनुसरण के लिए ख़ुद के सिवा कोई न हो।
रबर बैंड का नियम : विकास तब रुक जाता है, जब आप इन दो जगहों के बीच के तनाव को खो देते हैं- जहाँ आप हैं और जहाँ आप हो सकते हैं।

जॉन मैक्सवेल की यह पुस्तक जीवन भर सीखने में आपकी मदद करेगी, ताकि आपका सामर्थ्य लगातार बढ़ता रहे और आप निरंतर विकास करते रहें।

About author

जॉन सी. मैक्सवेल नंबर वन न्यू यॉर्क टाइम्स बेस्टसेलिंग लेखक, कोच और वक्ता है। उन्हें अमेरिका का सर्वोच्च नेतृत्व विशेषज्ञ कहा जाता है। वे द जॉन मैक्सवेल कंपनी, द जॉन मैक्सवेल टीम और गैर-लाभकारी संगठन इक्विप के संस्थापक हैं, जिसने 180 देशों में 50 लाख से ज़्यादा लीडर्स को प्रशिक्षित किया है। वे हर साल फॉर्च्यून ५०० कंपनीयों, विदेशी सरकारों के प्रतिनिधियों और संसार के शीर्षस्थ व्यवसायियों को व्याख्यान देते हैं। उनके बारे में अधिक जानकारी के लिए उनकी वेबसाइट johnmaxwell.comपर जाएँ।