Yaadein (Hindi)

Yaadein (Hindi)

Author : Rai Upendra Prasad

In stock
Rs. 175
Classification Memoir
Pub Date October 2015
Imprint Sarvatra
Page Extent 162
Binding Perfect Paperback
Language Hindi
ISBN 978-81-931823-2-1
In stock
Rs. 175
(inclusive all taxes)
OR
about book

यादों का सिलसिला तो कभी ख़त्म नहीं होता I फिर भी लेखक का प्रयास रहा है कि बचपन से आज तक ज़िन्दगी की कड़ियों को जोड़कर आपके समक्ष रखा जाये I

यह बिहार के साधारण से गाँव में जन्मे एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है, जो विभिन्न परिस्तिथियों को सहते हुए अपने दृढ़ निश्चय से लक्ष्य को प्राप्त करता है I जो अपने पूरे परिवार को साथ लेकर चला और अपने तीनों बच्चों को बेहतरीन शिक्षा दिलवाई, जिससे वे आज अपने-अपने क्षेत्रों में महत्त्वपूर्ण पदों पर कार्य कर रहे हैं I आगे बढ़ने की अदम्य इच्छा से उपलब्धियाँ स्वतः आती गई I

'यादें' सरल भाषा में लिखी गयी है और एक दिलचस्प जीवन - वृत्तांत होने का अभ्यास दिलाती है I

About author

राय उपेन्द्र प्रसाद पेशे से सिविल इंजीनियर रहे I रक्षा मंत्रालय के एम.ई.एस. विभागों में ३५ वर्षों तक कार्य करते हुए मुख्य अभियन्ता के पद से 31 अगस्त 2001 को सेवानिवृत हुए I

उन्होंने बैंगलोर को अपना आशियाना बनाया और पत्नी के साथ नै जगह, खुले वातावरण और मनभावन मौसम में अपनी गृहस्ती जमाई I वे अपनी पत्नी प्रोफेशनल ज़िन्दगी में कुछ ज़्यादा हे व्यस्त रहे लेकिन अवकाश प्राप्ति के बाद तो समय हे समय था I मन में दबी इच्छायें करवट लेने लगीं I
देश - विदेश घूमना और पढ़ना एक तरह से खालीपन को भरने का प्रयास रहा I उन्होंने कुछ नये प्रयोग भी सीखे - जैसी रेकी, मैडिटेशन, एक्यूप्रेशर, योग साधन इत्यादि I फिर पुत्र पुलक की सलाह पर अपनी कहानी लिखना प्रारम्भ की और अंततः 'यादें' लिखी गई I