Anchalik Patrakarita  ki  Vaishvik Udaan ( Hindi)

Anchalik Patrakarita ki Vaishvik Udaan ( Hindi)

Author : Sanat Jain

In stock
Rs. 195.00
Classification Journalism
Pub Date January 2021
Imprint Sarvatra (An Imprint of Manjul Publishing House)
Page Extent 128
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789390085859
In stock
Rs. 195.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

यह पुस्तक ग्रामीण पत्रकारिता के विकास के साथ-साथ ग्रामीण अंचलों को विकास के इस दौर में नगरीय आबादी के साथ जोड़ने में और युवा पत्रकारों को प्रशिक्षित करने में महत्त्वपूर्ण मार्गदर्शन करेगी। समाचार-पत्र एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की केवल बड़े-बड़े शहरों और महानगरों की रिपोर्टिंग तक ही पहुंच है। भारत की ज़्यादातर आबादी आज भी गांवों में रहती है तथा उसकी अपनी समस्याएं हैं। मीडिया में उन्हें उपयुक्त स्थान नहीं मिल पाता है। वर्तमान संदर्भ में स्मार्टफ़ोन, व्हाट्‌सएप और इंटरनेट के विभिन्न माध्यमों द्वारा समाचार बनाना बहुत सहज और सरल हो गया है।
ऐसी स्थिति में पत्रकारिता के क्षेत्र में, विशेष रूप से आंचलिक पत्रकारिता के माध्यम से बहुत प्रभावकारी समाचार और सूचनाएं हर स्तर पर महत्त्व बना सकते हैं। यह पुस्तक ग्रामीण व शहरी आबादी को एक सूत्र में जोड़ने का काम करेगी तथा पत्रकारिता विषय के छात्रों व शोधार्थियों और सामान्य पाठकों के लिए विशेष रुचिकर और मार्गदर्शी साबित होगी।

About the Author(s)

सनत जैन एक्सप्रेस समूह के प्रधान संपादक हैं जिन्होंने अपनी पत्रकारिता ग्रामीण अंचलों एवं छोटे शहरों से शुरु की थी। पिछले 30 वर्षों में उन्होंने दैनिक म.प्र. हिन्दी एक्सप्रेस, दैनिक जबलपुर एक्सप्रेस, दैनिक एक्सप्रेस न्यूज, ईएमएस न्यूज एजेंसी, ईएमएस अकेडमी ऑफ़ जर्नलिज्म, ईएमएस टीवी, पंचायत नेट, ईएमएस न्यूज ऐप के माध्यम से भारतीय पत्रकारिता को नई दिशा दी है।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18455904
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem