Bulls, Bears and Other Beasts: Bhartiya Share Bazar Ki Rochak Kahani (Hindi)

Bulls, Bears and Other Beasts: Bhartiya Share Bazar Ki Rochak Kahani (Hindi)

Author : Santosh Nair (Author) Akhilesh Awasthy (Translator)

In stock
Rs. 599.00
Classification Analysis & Strategy
Pub Date 25 July 2023
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 404
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355433213
In stock
Rs. 599.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

आर्थिक उदारीकरण के बाद के दौर के भारतीय शेयर बाज़ार का अनूठा इतिहास
चतुर और चालाक लालचंद गुप्ता 1991 के बाद से शेयर बाज़ार के इस विस्तृत इतिहास में आपको दलाल स्ट्रीट की सैर पर ले जाते हैं। टेक्नोलॉजी कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त उछाल और कर-चोरी से लेकर बैंक धोखाधड़ी और काले धन को सफ़ेद बनाना, घोटाले और बाज़ार का तेज़ी से गिरना, और घोटालेबाज़ तथा निवेशक - लाला ने यह सब कुछ देखा है। इस विशेष पाँचवें वर्ष के संस्करण में आज तक हुए घटनाक्रमों को शामिल करते हुए बॉम्बे शेयर बाज़ार के ट्रेडिंग फ़्लोर में अभी हाल के समय तक हुए विकास के संबंध में भी बहुत ही सूक्ष्म टिप्पणियाँ की गई हैं और लाला के अनोखे अंदाज़ में चतुराई भरे निवेश के बारे में बताया गया है।
देश की माली सेहत में थोड़ी-बहुत भी दिलचस्पी रखने वालों के साथ ही उन लोगों को भी इस पुस्तक को ज़रूर पढ़ना चाहिए जो उन सनसनीखेज़ घटनाओं के बारे में जानना चाहते हैं जिनके कारण शेयर बाज़ार का कामकाज आज अधिक साफ़-सुथरा और पारदर्शी हुआ है।

About the Author(s)

संतोष नायर सीएनबीसीटीवी18 डॉटकॉम के कार्यकारी संपादक हैं। उन्हें कारोबारी पत्रकारिता का दो दशकों का गहन अनुभव है। उन्होंने अपने करिअर की शुरुआत 1997 में बिज़नेस स्टैंडर्ड के स्टॉक मार्केट के रिपोर्टर के रूप में की थी। इससे उन्हें भारतीय वित्त बाज़ारों में व्यापक बदलाव ला रहे संरचनात्मक परिवर्तनों को क़रीब से देखने का मौक़ा मिला। प्रतिदिन आने वाले उनके स्तंभ ‘स्ट्रीट साइन्स’ में उस दिन के कुछ प्रमुख सौदों, बाज़ार के रुझान और उससे जुड़ी बातें हुआ करती थीं। यह निवेशक बिरादरी के बीच बहुत लोकप्रिय था। 2006 से 2010 तक द इकोनॉमिक टाइम्स के मार्केट्स एडिटर रहते हुए उन्होंने उस दौर के कुशल, लेकिन बहुत अधिक अलग-थलग रहने वाले निवेशकों के जीवन पर गहराई से शोध करके प्रकाश डाला। इसके अतिरिक्त संस्थानों, रुझानों और तरह-तरह के छल-प्रपंचों के संबंध में लेखन किया। 2011 से 2020 तक मनीकंट्रोल डॉटकॉम के संपादक के रूप में संतोष ने न्यूज़रूम के माहौल को ऊर्जावान बनाने में मदद के साथ ही इसे बहुत अधिक डेटा तथा टूल आधारित संस्थान से डिजिटल वित्तीय प्रकाशन की सभी सेवाएँ प्रदान करने वाले प्लेटफ़ॉर्म में बदलने की कवायद का नेतृत्व किया। संतोष अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ मुंबई में रहते हैं।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18436968
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem