Do Misron Mein ( Hindi)

Do Misron Mein ( Hindi)

Author : Manish Badal

In stock
Rs. 195.00
Classification Poetry
Pub Date Feb 2023
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 128
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355431455
In stock
Rs. 195.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

मनीष ने जिस तरह एक आम आदमी के मनोविज्ञान को समझते हुए शे’र कहे हैं, वो अद्भुत हैं। वास्तव में उनके शे’र “साहित्य समाज का दर्पण है” को चरितार्थ करते हैं।
-पद्मश्री सुरेंद्र शर्मा

बादल के पास दिमाग़ात्मक दिल है और दिलात्मक दिमाग़, जो सतत रचनात्मक सम्भावनाओं के द्वारों पर खड़ा रहता है। मनीष बादल को अभी बहुत आगे जाना है, मैं हमेशा उनकी अगवानी में खड़ा मिलूंगा।
-पद्मश्री अशोक चक्रधर

मुझे ऐसा महसूस होता है कि मनीष ने अपने शे’रों के माध्यम से बता दिया है कि वो हर एक मुद्दे को दिलो-दिमाग़ से महसूस करके ही शे’र कहते हैं। सहज-सरल तरीके से अपनी बात को कह लेना उनकी ख़ासियत में रच-बस गया है।
-अंजुम रहबर

मुझे पूरा विश्वास है कि मनीष की ये ग़ज़लें बादलों की तरह आकाश में धीमे-धीमे
उड़ते हुए ग़ज़ल चाहने वालों तक पहुंचेंगी। इन ग़ज़लों का स्वागत होगा।
-तेजेन्द्र शर्मा

मनीष बादल की ग़ज़लों की दुनिया बड़ी है। उनके विषयों का वैविध्य है और कथ्य
के अनुरूप शिल्प भी उनके पास है। वह संभावनाओं से भरे रचनाकार हैं।
-प्रो. वशिष्ठ अनूप

About the Author(s)

मनीष बादल

o जन्म स्थान - वाराणसी (उ.प्र.), शिक्षा - एम.बी.ए.
o सात साझा संग्रह प्रकाशित
o देश-विदेश के अनेक प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में रचनाएँ प्रकाशित
o दूरदर्शन, आकाशवाणी एवं अन्य नेशनल/प्रादेशिक टीवी चैनलों, विभिन्न एफ.एम. रेडियो चैनलों पर काव्य पाठ का प्रसारण एवं साक्षात्कार
o अनेक राज्यों में अनेक साहित्यिक एवं शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित
man.sriv7@gmail.com

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18422920
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem