Ek Asafal Vyakti ki Yatra (Hindi)

Ek Asafal Vyakti ki Yatra (Hindi)

Author : Sushil Raman

In stock
Rs. 295
Classification Memoir
Pub Date May 2022
Imprint Sarvatra
Page Extent 198
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355431561
In stock
Rs. 295
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

प्रस्तुत पुस्तक में लेखक ने अपनी 47 वर्षों की यात्रा
(1974 से 2021 तक) का वर्णन किया है, जो तब शुरू हुई थी जब
उन्होंने अपना लक्ष्य निर्धारित किया था।

उनकी इस यात्रा में कैसे-कैसे पड़ाव आये, कितनी ही कठिनाइयाँ आयीं,
फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने सपनों को बूढ़ा नहीं होने दिया।

ऐसा कैसे हुआ, वो कौन-सी मजबूरियाँ थी जो उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए आगे नहीं बढ़ने दे रहीं थी और फिर उन परिस्थितियों में वो कैसे अपने आप को संभालते रहे! इसी क्रम में धीरे-धीरे समय गुज़रता गया लेकिन फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और रिटायरमेन्ट के बाद अपने सपनों को पूरा किया।

यह पुस्तक एक अनूठे संघर्ष की गाथा है, जो आपको रोमांचित तो करेगी ही,
साथ में आपको अपने उद्देश्यों को पाने के लिए एक नयी ऊर्जा, नयी उड़ान भी देगी।

About the Author(s)

सुशील रमन महालेखाकार कार्यालय, इलाहाबाद (उ.प्र.)
से वरिष्ठ लेखाधिकारी के पद से 60 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हुए।

इसके उपरांत 61वें वर्ष में वो अपने 40 वर्ष पुराने सपनों को साकार करने के
लिए एक अंजाने रास्ते पर चल पड़े। वे सपने, जो उन्होंने तब देखे थे जब वे 20 वर्ष के थे और अब जाकर उन्होंने अपने सपनों को पूरा किया

[profiler]
Memory usage: real: 15990784, emalloc: 15394792
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem