AB IS DIL SE KYA KAHUN

AB IS DIL SE KYA KAHUN

Author : Mridula Bajpai

In stock
Rs. 150
Classification Fiction
Pub Date 2011
Imprint Hindi Titles
Page Extent 164
Binding PB
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-228-0
In stock
Rs. 150
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

यह उपन्यास मूल रूप से एक प्रेम कहानी के इर्द-गिर्द बुना गया है। दो जन्मों की इस कहानी में अंजलि को अचानक अपने एक नए दोस्त से खास लगाव महसूस होने लगता है और जल्द ही उसे एहसास हो जाता है कि शिवा नाम का उसका ये दोस्त कोई और नहीं बल्‍कि पिछले जन्म का उसका बिछड़ा हुआ प्रेमी है।

About the Author(s)

Mridula Bajpai

[profiler]
Memory usage: real: 31981568, emalloc: 31258688
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem