AUR INTZAAR THAK GAYA

AUR INTZAAR THAK GAYA

Author : Mridula Bajpai

In stock
Rs. 150
Classification Fiction
Pub Date 2008
Imprint Hindi Titles
Page Extent 143
Binding PB
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-099-6
In stock
Rs. 150
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

एक ऐसी लड़की की कहानी जो ढूँढ़ने निकलती है अपने नाम में छुपे अर्थ, अपनी पहचान और अपने अस्‍तित्व को। पर जब सच्चाइ उसके सामने आती है तब उसे लगता है जैसे उसका सब कुछ छिन गया हो। ...पर यहीं से उसका नया जीवन भी प्रारंभ होता है। क्या विपरीत दिशा में खिंचते रिश्तों के बंधनों में वह अपने प्यार को जिंदा रख पाती है...?

About the Author(s)

Mridula Bajpai

[profiler]
Memory usage: real: 31981568, emalloc: 31261816
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem