Heeron ki Khaan (  Hindi)

Heeron ki Khaan ( Hindi)

Author : Russel H. Conwell

In stock
Rs. 75.00
Classification Self-Help
Pub Date June 2015
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 68
Binding Paper Back
Language Hindi
ISBN 9788183220262
In stock
Rs. 75.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

हीरों की खान
रसेल एच. कॉनवेल का भाषण एकर्स ऑफ़ डायमंड जितना मशहूर हुआ है, उतने बहुत काम भाषण हुए होंगे I यह भाषण इतने लोकप्रिय हुआ कि उनसे हज़ारों बार इस बहशन को देने का आग्रह किया गया I लाखों लोग इस भाषण को सुन चुके हैं और इससे लाभ उठा चुके हैं I इस भाषण को लोकप्रियता का कारन यह है कि इसमें कई उदाहरण देकर यह साबित किया गया है कि किसी को भी अमीर बनाने के लिए दूर जाने कि ज़रुरत नहीं है I आप इस समय यहाँ हैं, वहीँ पर आपको हीरों का खज़ाना मिल सकता है I आपके आस - पास हे अवसरों कि भरमार है, बशर्ते आप ध्यान से देखें I रसेल कॉनवेल के इस भाषण से प्रेरित होकर लाखों लोगों ने अपना नजरिया बदलकर हीरों कि खान से बेशकीमती हीरे चुने हैं I आशा है कि आपके साथ भी ऐसा ही हो I

About the Author(s)

रसेल एच. कॉनवेल फिलेडेल्फ़िया कि टेम्पल यूनिवर्सिटी के संस्थापक हैं, महान जॉन वनामकेर ने इन्हे छात्र, अध्यापक, वकील, उपदेशक, आयोजक, विचारक, लेखक, व्याख्याता, शिक्षक, राजनयिक, और नेता के रूप में बताया है I रसेल कॉनवेल बैपटिस्ट टेम्पल, अमेरिका के सबसे बड़े प्रोटेस्टेंट चर्च के संस्थापक और पादरी भी थे I उन्होंने दो अस्पतालों की स्थापना भी की। उनके हीरे की खान के प्रसिद्द भाषण से अनगिनत व्यक्तियों को मदद मिली है- जिससे लोग सच्ची दौलत का अर्थ समझ पाये और उसे हासिल करने के लिए स्वार्थ और लालच को बिना बीच में आड़े आने दिए प्रेरित हो पाये I

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18462592
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem