NARAZ

NARAZ

Author : Rahat Indori

In stock
Rs. 199
Classification Poetry
Pub Date February 2016
Imprint Manjul Hindi
Page Extent 130
Binding Paperback
Language HINDI
ISBN 9788183227025
In stock
Rs. 199
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

नाराज़ राहत इंदौरी राहत की पहचान के कई हवाले हैं - वो रंगों और रेखाओं के फ़नकार भी हैं, कॉलेज में साहित्य के उस्ताद भी, मक़बूल फ़िल्मी गीतकार भी हैं और हर दिल अज़ीज़ मशहूर शायर भी I इन सबके साथ राजनीतिक और सामाजिक परिस्थितियों की पृष्ठभूमि में इंसान की अंदरुनी और बाहरी कश्मकश के प्रत्यक्षदर्शी भी हैं I राहत की शख़्सियत के ये तमाम पहलू उनकी ग़ज़ल के द्वारा सर्वेक्षण और विश्लेषण भी है I राहत की शायरी की भाषा भी उनके विचारों की ही तरह सूफ़ीवाद का प्रतिबिंब है I प्रचारित शब्दावली और अभिव्यक्ति की प्रचलित शैली से अलग अपना रास्ता बनाने के साहस ने ही राहत के सृजन की परिधि बनाई है I निजी अवलोकन और अनुभवों पर विश्वास ही उनके शिल्प की सुंदरता और उनकी शायरी की सच्चाई है I - निदा फ़ाज़ली

About the Author(s)

सियासत और इश्क पर मारक श़ेर कहने वाले हमारे वक्त के सबसे बड़े शायर और हर दिलअजीज राहत इंदौरी (जन्म: 1 जनवरी 1950) एक भारतीय उर्दू शायर और हिंदी फिल्मों के गीतकार हैं। राहत इंदौरी की शायरी अगरबत्ती की खुशबू की तरह आहिस्ता-आहिस्ता फैलती है और हमारे दिल के दरवाजे खोलकर हमारी रूह में उतर जाती है। राहत साहब ने पचास से अधिक फिल्मों के लिए गीत लिखे हैं।

[profiler]
Memory usage: real: 15990784, emalloc: 15439080
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem