Bimariyan Harengi

Bimariyan Harengi

Author : Dr. Abrar Multani

Classification Self-help/ Health
Pub Date 1 September 2017
Imprint Manjul
Page Extent 266 pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9788183226790
Out of stock Notify Me
Rs. 195
(inclusive all taxes)
About the Book

मनुष्य गुफा मानव से आधुनिक मानव में परिवर्तित हो गया है I सभ्यता और विकास की अदभुत यात्रा ने हमें अकल्पनीय बुलंदियों पर पहुँचाया है और इस प्रगति का सम्मान किया जाना चाहिए I लेकिन इस विकास यात्रा में मनुष्य ने अपने स्वास्थ्य को नष्ट किया है, और अब वह जन्म लेते ही बीमार हो जाता है I उसकी ज़िन्दगी के दिन कम हो गए हैं और मृत्यु का इंतज़ार बढ़ गया है I अनेक बीमारियों से घिरा आज का आदमी बीमारियों के मूल कारणों को अनदेखा करके निरंतर नई दवाओं की खोज में लगा हुआ है I

आइये हम फिर से अपने स्वास्थ्य को वैसा ही बना लें जैसा हमारे पूर्वजों का था I हमारी उन्नति की यात्रा का सम्पूर्ण आनंद बिना सेहत के अधूरा है I आइये हम बीमार होने की कभी न टूटने वाली श्रंखला को तोड़ें और बीमारियों को हरा दें I हम विजेता बनाने का प्रयास करें, क्योंकि ईश्वर ने हमें बीमारियों को हारने के सभी उपाय प्रदान किये हैं ... आवश्यकता है उनका प्रयोग करने की, जो यह पुस्तक आपको सिखाएगी I

About the Author(s)

डॉ अबरार मुल्तानी एक प्रख्यात आयुर्वेद विशेषज्ञ होने के साथ-साथ स्वास्थ्य लेखन में पिछले कई वर्षों से अपनी सेवाएँ दे रहे हैं I प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति को नवीन रूप में प्रस्तुत कर लोगों में आयुर्वेद के प्रति फैली भ्रांतियों को मिटाने में, और आयुर्वेद का प्रचार-प्रसार करने में भी आपका योगदान है I आप शरीर, मन और आत्मा का अदभुत सम्मिश्रण कर चिकित्सक हैं I डॉ. मुल्तानी 'इनक्रेडिबल आयुर्वेद, के संस्थापक तथा 'स्माइलिंग हार्ट्स' नामक संस्था के अध्यक्ष हैं I वे देश के पहले आनंद मंत्रालय (म. प्र) की गवर्निंग कमेटी के मनोनीत सदस्य भी हैं I वे कई अन्य प्रसिद्द पुस्तकों के लेखक भी हैं I

[profiler]
Memory usage: real: 15990784, emalloc: 15489680
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem