Sochiye Aur Swasthya Rahiye

Sochiye Aur Swasthya Rahiye

Author : Dr. Abrar Multani

Classification Self-help
Pub Date 1 September 2017
Imprint Manjul
Page Extent 272 pages
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 978-81-8322-682-0
Out of stock Notify Me
Rs. 195
(inclusive all taxes)
About the Book

यह एक भ्रान्ति है कि हमारे विचार स्वतः प्रवाहित होते हैं और असर दिखते हैं I विचारों को नियंत्रित कर उन्हें सही दिशा में प्रवाहित किया जा सकता है तथा मनचाहा परिणाम भी प्राप्त किया जा सकता है I हम अपने शरीर को सजाने-सँवारने के लिए कई प्रकार को के जतन करते हैं, लेकिन पूरे शरीर नियंत्रित करने वाले विचारों को सुधारने अथवा सँवारने के लिए कुछ नहीं करते I नतीजतन, हम रोगी हो रहे हैं I
आज का मनुष्य कुंठित, निराश, भयभीत और अत्यधिक बीमार है - शायद इतिहास का सबसे निराश और बीमार मानव! यह पुस्तक अत्यंत व्यावहारिक है, आपके ह्रदय और मस्तिष्क पर पड़े नकारात्मक विचारों की छाप को हटाने में मददगार साबित होगी तथा उनकी पुनरावृत्ति को रोकेगी I यह विचारों को नियंत्रित करने की कला सिखाएगी और सुखद परिणामों द्वारा आपके स्वास्थ्य एवं यौवन को नई ऊँचाई प्रदान करेगा I विचारों की इस अदभुत एवं रोचक पाठशाला में आपका स्वागत है...

About the Author(s)

डॉ अबरार मुल्तानी एक प्रख्यात आयुर्वेद विशेषज्ञ होने के साथ-साथ स्वास्थ्य लेखन में पिछले कई वर्षों से अपनी सेवाएँ दे रहे हैं I प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति को नवीन रूप में प्रस्तुत कर लोगों में आयुर्वेद के प्रति फैली भ्रांतियों को मिटाने में, और आयुर्वेद का प्रचार-प्रसार करने में भी आपका योगदान है I आप शरीर, मन और आत्मा का अदभुत सम्मिश्रण कर चिकित्सक हैं I डॉ. मुल्तानी 'इनक्रेडिबल आयुर्वेद, के संस्थापक तथा 'स्माइलिंग हार्ट्स' नामक संस्था के अध्यक्ष हैं I वे देश के पहले आनंद मंत्रालय (म. प्र) की गवर्निंग कमेटी के मनोनीत सदस्य भी हैं I वे कई अन्य प्रसिद्द पुस्तकों के लेखक भी हैं I

[profiler]
Memory usage: real: 31981568, emalloc: 31278408
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem