Shyam: Bhagvata ka Sachitra Punarkathan

Shyam: Bhagvata ka Sachitra Punarkathan

Author : Devdutt Pattanaik

In stock
Rs. 399
Classification Mythology
Pub Date November 2020
Imprint Manjul
Page Extent 306
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789390085569
In stock
Rs. 399
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

भागवत कृष्ण की कथा है और वे सभी उन्हें श्याम के रूप में जानते हैं जिन्होंने उनके श्यामल वर्ण सौंदर्य, प्रज्ञा व प्रेम को पाया है। यह रामायाण व महाभारत के बाद तीसरा महान हिंदू महाकाव्य है।
यद्यपि इसका कथानक, हज़ारों वर्षों के दौरान कई अंशों में रचा गया - पहले हरिवंश में और फिर भागवत पुराण और अंतत: विविध प्रांतीय भाषाओं में संत-कवियों के प्रेममयी गीतों ने इसे इसका रूप प्रदान किया।
यह पुस्तक कृष्ण के जन्म से ले कर उनकी मृत्यु तक का ताना-बाना बुनती है, जिसमें उनके प्रसन्नचित्त स्त्रियों और माखन से ओत-प्रोत जीवन में अवतरण से ले कर, क्रोधित पुरुषों से रक्त रंजित जगत में आरोहण शामिल है।

About the Author(s)

देवदत्त पटनयायक आधुनिक युग में पौराणिकता की प्रासंगिकता पर लिखते हैं, चित्रांकन करते हैं व व्याख्यान देते हैं। वे 1996 से अब तक 30 से अधिक पुस्तकें व 600 से अधिक स्तंभ लिख चुके हैं कि किस प्रकार कहानियाँ, प्रतीक व अनुष्ठान संसार भर में प्राचीन व आधुनिक संस्कृतियों के मिथक रचते हैं।
उनकी लिखी प्रमुख पुस्तकों में शामिल हैं : द बुक ऑफ़ राम, जय : एन इलस्ट्रेटिड रीटेलिंग ऑफ़ महाभारत, द गर्ल हू चोज़ और देवलोक विद देवदत्त पटनायक श्रंखला। वे विभिन्न संस्थाओं को नेतृत्व व प्रशासन से जुड़े परामर्श देते हैं। इसके अतिरिक्त वे टी.वी. चैनलों पर पौराणिक धारावाहिकों से भी जुडे़ हैं। उनके टी.वी. कार्यक्रमों में सीएनबीसी-टीवी 18 पर बिज़नेस सूत्र व एपिक टी.वी. पर देवलोक शामिल हैं।
अधिक जानकारी के लिए www.devdutt.com पर संपर्क करें।

[profiler]
Memory usage: real: 31981568, emalloc: 31282560
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem