Hyperfocus: Kam Prayas Mein Adhik Safalta Kaise Prapt Karein (Hindi Edition of Hyperfocus: How to Work Less to Achieve More)

Hyperfocus: Kam Prayas Mein Adhik Safalta Kaise Prapt Karein (Hindi Edition of Hyperfocus: How to Work Less to Achieve More)

Author : Chris Bailey (Author) Ajay Tiwari (Translator)

In stock
Rs. 350.00
Classification Non-Fiction
Pub Date May 2023
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 248
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355433008
In stock
Rs. 350.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

“क्रिस बेली आपकी एकाग्रता को पैना करने के लिए कार्रवाई योग्य और डेटा-संचालित अंतर्दृष्टि प्रस्तुत करते हैं।”
-एडम ग्रांट, ओरिजिनल्स के लेखक

“असाधारण, आँखें खोलने वाली और
शोध-आधारित कृति... वाह क्रिस!”
-डेविड ऐलन, गेटिंग थिंग्स डन के लेखक

अपने ध्यान का प्रबंधन कैसे करें, यह सिखाने वाली एक व्यावहारिक मार्गदर्शिका। किसी भी काम को पूरा करने, अधिक रचनात्मक बनने और सार्थक जीवन जीने के लिए आपके पास जो सबसे शक्तिशाली संसाधन है, वह ध्यान ही है।
इस पुस्तक में आप सीखेंगे:
• कम समय तक काम करने से हमारी उत्पादकता कैसे बढ़ती है।
• अपने काम को अपेक्षाकृत आसान नहीं, बल्कि और अधिक कठिन बनाकर हम ज़्यादा काम कैसे करते हैं।
• हम अपना सर्वश्रेष्ठ रचनात्मक कार्य तब कैसे कर पाते हैं, जब हम सबसे अधिक थके होते हैं।
हमारा ध्यान न तो कभी इतना प्रभावशाली रहा और न ही कभी उसकी इतनी माँग रही, जितनी आज है। पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि हम इतने व्यस्त रहे हों और इतना कम अर्जित कर रहे हों।
क्रिस बेली हमें गहन अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं कि हम अपने ध्यान का प्रबंधन सर्वश्रेष्ठ तरीके से कैसे कर सकते हैं। वे बताते हैं कि दिमाग़ कैसे दो मानसिक प्रणालियों के बीच ‘स्विच’ करता है - हायपरफ़ोकस हमारी गहन एकाग्रता प्रणाली होती है और स्कैटरफ़ोकस हमारी रचनात्मक और चिंतनशील प्रणाली होती है। अपने कार्य में सबसे रचनात्मक और कुशल होने का निश्चित मार्ग इन दोनों प्रणालियों के संयोजन में निहित है।

About the Author(s)

क्रिस बेली एक उत्पादकता विशेषज्ञ और द प्रोडक्टिविटी प्रोजेक्ट के अंतर्राष्ट्रीय बेस्ट-सेलिंग लेखक हैं, जिसे ग्यारह भाषाओं में प्रकाशित किया गया है। क्रिस-lifeofproductivity.com पर उत्पादकता के बारे में लिखते हैं और दुनियाभर की संस्थाओं और संगठनों में व्याख्यान देते हैं कि किस तरह प्रक्रिया से नफ़रत किए बग़ैर उत्पादकता में वृद्धि की जाए। अभी तक उन्होंने इस विषय पर सैकड़ों लेख लिखे हैं और उन्हें द न्यू यॉर्क टाइम्स, द वाल स्ट्रीट जर्नल, न्यू यॉर्क मैग्जीन, हार्वर्ड बिज़नेस रिव्यू, टेड, फ़ास्ट कंपनी और लाइफ़ हैकर जैसे विविध मीडिया में कवरेज मिली है। क्रिस किंग्स्टन, ओंटारियो (कैनेडा) में रहते हैं।

alifeofproductivity.com
Email: chris@alifeofproductivity.com
Twitter: @Chris_Bailey
Twitter: @ALOProductivity
क्रिस बेली चुनिंदा व्याख्यान और कार्यशालाओं के लिए भी उपलब्ध हैं।
अधिक जानकारी के लिए, कृपया alifeofproductivity.com/speaking पर जाएं।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18439416
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem