Kehna Baaki Hai (Hindi)

Kehna Baaki Hai (Hindi)

Author : Om Prakash Shukla

Out of stock Notify Me
Rs. 199.00
Classification Poetry
Pub Date 25th September 2023
Imprint Sarvatra (An Imprint of Manjul Publishing House)
Page Extent 128
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355433435
Out of stock Notify Me
Rs. 199.00
(inclusive all taxes)
About the Book

धड़कन पैदा करके
स्पंदन बन के
सागर की लहरों जैसा
अठखेली करते जीवन जी लें
उसमें क्या रखा है
जिसकी चाहत सबको है
हम दोनों अद्भुत हैं
विरले हैं
तब तो लिखते-पढ़ते रहते हैं
यादों को शब्दों से सींचा करते हैं
सुनते और सुनाते हैं
वीणा के तारों जैसा
उसको झंकृत करते रहते हैं
जल-थल-नभ के मिलने जैसा दृश्य बना है
आओ, नाचें सपने में
यादों को संचित करके
हो प्रलय-विलय उनका सपने में
राही बस चलता जा उन लम्हों में।

About the Author(s)

इस पुस्तक के लेखक डॉ. ओम प्रकाश शुक्ल उत्तरप्रदेश के अमेठी जिले के मूल निवासी हैं। उन्होंने समाजशास्त्र में स्नातकोत्तर की डिग्री लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ से प्राप्त की है। डॉ. शुक्ल को श्रम कानून तथा औद्योगिक सम्बन्ध में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा, एलएलबी एवं समाज विज्ञान में पीएच. डी (मानद) की उपाधि भोपाल विश्वविद्यालय ( बरकतउल्ला विश्वविद्यालय) ने प्रदान की है।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18433440
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem