Palmistry: Nature Se Future Tak ( Hindi)

Palmistry: Nature Se Future Tak ( Hindi)

Author : R.N Mishra

In stock
Rs. 299.00
Classification Non Fiction
Pub Date June 2022
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 166
Binding Paperback
Language Hindi
ISBN 9789355431813
In stock
Rs. 299.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

आज पामिस्ट्री अपने नए अवतार में है। इसमें पहले की अपेक्षा कई नई बातें जुड़ गई हैं। यह अंग लक्षण के अंतर्गत तो आती ही है, इसमें फ़िंगरप्रिंट का जुड़ना एक नई क्रांति लाया है। हाथ के आकार-प्रकार, रेखाओं और फिंगरप्रिंट का विश्लेषण व अध्ययन कर हम चरित्र, मूल प्रवृत्ति, जन्मजात गुण, प्रतिभा, क्षमता, आदत तथा स्वभाव की कमियों के बारे में जान सकते हैं। हमारा यह दृढ़ विश्वास है कि व्यक्ति का नेचर ही उसका फ़्यूचर निर्धारित कर देता है।
आप क्रिएटिव हैं या इंटेलेक्चुअल हैं, आप इमोशनल हैं या सेल्फिश हैं,यह सब हम पामिस्ट्री से जान सकते हैं। कोई व्यक्ति कितना अच्छा प्रेमी है या कितना विश्वास के योग्य है, यह भी आप पामिस्ट्री से जान सकते हैं।आज व्यक्ति मनोवैज्ञानिक समस्याओं के लिए बड़े-बड़े काउंसलर,मनोविज्ञानी, लाइफ़ कोच के पास जाता है। जबकि पामिस्ट्री को सिलसिलेवार तरीके से सीखने से हम काफी हद तक इन समस्याओं का निराकरण कर सकते हैं तथा दूसरों की समस्या सुलझाने में मदद भी कर सकते हैं।

About the Author(s)

आर. एन. मिश्रा का जन्म दुर्ग (छत्तीसगढ़) में हुआ एवं आप की शिक्षा दीक्षा मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में हुई। वे मध्य प्रदेश शासन के वित्त विभाग से डायरेक्टर के पद से रिटायर हुए हैं। मूल रूप से इनके पूर्वज वाराणसी के हैं एवं उन्होंने अपनी ज्योतिषी विरासत को आधुनिक रूप देकर आगे बढ़ाया है। उन्होंने विगत 30 वर्षों में देश विदेश के लगभग 30,000 हाथों के अध्ययन एवं अनुभवों का सार पामिस्ट्री की इस पुस्तक में दिया है।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18456272
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem