Harry Potter Aur Mayapanchi Ka Samooh - 5 (Hindi edition of Harry Potter and the Order of the Phoenix )

Harry Potter Aur Mayapanchi Ka Samooh - 5 (Hindi edition of Harry Potter and the Order of the Phoenix )

Author : J.K Rowling (Author) Dr. Sudhir Dixit (Translator)

In stock
Rs. 899.00
Classification Fiction/Children's Fiction
Pub Date
Imprint Manjul Publishing House
Page Extent 861
Binding Paper Back
Language Hindi
ISBN 9788183220712
In stock
Rs. 899.00
(inclusive all taxes)
OR
About the Book

'तुम शैतानी शहंशाह के विचारों और भावनाओं तक पहुँच सकते हो। हेडमास्टर सोचते हैं कि ऐसा नहीं होना चाहिए। वे चाहते हैं कि मैं तुम्हें यह सिखाऊँ कि तुम अपना दिमाग़ शैतानी शहंशाह के प्रति कैसे बंद कर सकते हो।'
हॉगवर्ट्स में निराशाजनक माहौल है। जब दमपिशाचों ने उसके कज़िन डडली पर हमला कर दिया, तो हैरी जान गया कि वोल्डेमॉर्ट हाथ धोकर उसके पीछे पड़ा है। बहुत से लोग यह मानने को तैयार नहीं हैं कि शैतानी शहंशाह वापस लौट चुका है, लेकिन हैरी अकेला नहीं है : नापाक़ शक्तियों के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए एक ख़ुफ़िया सेना ग्रिमॉल्ड प्लेस में इकट्ठी होती है। हैरी को प्रोफ़ेसर स्नेप से सीखना पड़ता है कि वह उन खूंखार हमलों से अपनी रक्षा कैसे करे, जो वोल्डेमॉर्ट उसके दिमाग़ पर कर रहा है। ये हमले हर दिन ज़्यादा ताक़तवर होते जा रहे हैं और हैरी के पास मौजूद समय ख़त्म हो रहा है।

About the Author(s)

जे.के. रोलिंग हैरी पॉटर की बेहद लोकप्रिय पुस्तकों की लेखिका हैं। 1900 में एक ट्रेन यात्रा के दौरान उनके मन में हैरी पॉटर का विचार आया। इसके बाद उन्होंने सात पुस्तकों की श्रॅंखला लिखना शुरू किया। पहली पुस्तक हैरी पॉटर एंड द फ़िलॉसफ़र्स स्टोन 1997 में ब्रिटेन में प्रकाशित हुई। श्रॅंखला पूरी होने में दस साल लग गए और यह सिलसिला 2007 में हैरी पॉटर एंड द डेथली हेलोज़ के प्रकाशन के साथ ख़त्म हुआ।
इस श्रॅंखला के अलावा जे.के. रोलिंग ने चैरिटी के लिए तीन अन्य सह-पुस्तकें भी लिखीं। क्विडिच थ्रू द एजेस और फ़ैंटेस्टिक बीस्ट्स एंड व्हेयर टु फ़ाइंड देम पुस्तकें कॉमिक रिलीफ़ और ल्यूमॉस की सहायता के लिए लिखी गई, जबकि द टेल्स ऑफ़ बीडल द बार्ड ल्यूमॉस की सहायता के लिए लिखी गई। उन्होंने एक मंच नाटक हैरी पॉटर एंड द कर्ल्ड चाइल्ड के लेखन में भी सहयोग किया, जिसे पटकथा पुस्तक के रूप में प्रकाशित किया गया।
बच्चों के लिए उनकी अन्य पुस्तकों में परी कथा द इकाबोग और द क्रिसमस पिग शामिल हैं, जो क्रमशः 2020 और 2021 में प्रकाशित हुई और बेस्टसेलर साबित हुई। उन्होंने वयस्कों के लिए भी पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें एक बेस्टसेलिंग क्राइम फ़िक्शन श्रॅंखला भी शामिल है।
जे.के. रोलिंग को उनके लेखन के लिए कई पुरस्कार और सम्मान मिले हैं। वे अपने धर्मार्थ ट्रस्ट वोलंट के माध्यम से कई परोपकारी कार्यों का समर्थन करती हैं और बच्चों की चैरिटी हेतु ल्यूमॉस की संस्थापक भी हैं।

[profiler]
Memory usage: real: 20971520, emalloc: 18482496
Code ProfilerTimeCntEmallocRealMem